भारतीय संविधान के स्रोत (Part 4)

सं.देशसंविधान के अंश
11935 का भारतीय शासन अधिनियमये अधिनियम भारतीय संविधान का सबसे प्रमुख स्रोत रहा। अधिनियम की लगभग 200 धाराएं ऐसी हैं, जिन्हें साधारण परिवर्तन करके संविधान में स्थान दिया गया।
2ब्रिटेनसंसदीय शासन पद्धति, संसद एवं विधानमंडलों के सदस्यों के विशेषाधिकार, एकल नागरिकता, संसद एवं विधान मण्डलों की प्रक्रिया, राष्ट्र के प्रधान के रूप में राष्ट्रपति की औपचारिक स्थिति।
3संयुक्त राज्य अमेरिका (1789)मूल अधिकार, स्वतंत्र एवं निष्पक्ष न्यायपालिका और न्यायिक पुनर्विलोकन का सिद्धान्त, उपराष्ट्रपति का पद, राष्ट्रपति पर महाभियोग। हाइकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों का पद से हटाया जाना।
4फ्रांस (1946)गणतंत्रात्मक शासन व्यवस्था। प्रस्तावना में स्वतंत्रता, समता और बंधुता के आदर्श।
5कनाडा (1946)संघीय शासन व्यवस्था। अवशिष्ट शक्तियों का केंद्र में निहित होना, राज्यपालों की नियुक्ति।
6दक्षिण अफ्रीकासंविधान संशोधन की प्रक्रिया। राज्य सभा के सदस्यों का निर्वाचन।
7जर्मनी (1933)आपात-उपबन्ध।
8सोवियत संघ (1936)मूल कर्तव्य। प्रस्तावना में (सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक) न्याय का आदर्श।
9आयरलैण्ड (1937)राज्य की नीति के निदेशक तत्व राष्ट्रपति निर्वाचन मण्डल, राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा में साहित्य, कला, विज्ञान तथा समाज सेवा के क्षेत्र में मनोनीत।
10आस्ट्रेलिया (1901)प्रस्तावना, समवर्ती सूची, केन्द्र राज्य संबंध तथा उनके बीच शक्तियों का विभाजन।
11जापान (1989)विधि द्वारा स्थापित क्रिया विधि सिद्धान्तों का प्रावधान।

Leave a Reply

%d bloggers like this: